17 वी सदी के यूरोपीय लोगों के लिए दुनिया अलग कैसे दिखाई थी?

(1) यूरोप के अन्य देशों में नगरों की संख्या बढ़ रही थी। (2) अब एक विशेष प्रकार की ‘नगरीय संस्कृति’ विकसित हो रही थी। … (3) फ्लोरेंस, वेनिस और रोम जैसे नगर कला और विद्या के केंद्र बन गए थे । … (4) धनी और अभिजात वर्ग के लोग कलाकारों तथा लेखकों के आश्रयदाता थे।

Leave a Comment