दुख का अंत कब होता है?

जब दूसरों से या किसी प्रेमी से मोह और आसक्ति खत्म हो जाएगी तब दुःख स्वतः ही खत्म हो जाएंगे। ईश्वर से प्रार्थना करने के पश्चात ईश्वर की अनुकम्पा प्राप्त करके दुखों का अंत किया जा सकता है। ज़िंदगी के साथ ही दुखों का अंत होता है ।

Leave a Comment